शबनम हाशमी बनाम भारत संघ में, किशोर न्याय अधिनियम, 2002 के तहत गोद लेने का अधिकार, जो एक धर्मनिरपेक्ष कानून है, सभी हिंदुओं और गैर-हिंदुओं को शामिल करने के लिए बढ़ाया गया था।

कौन गोद ले सकता है?

आखिरी अपडेट Aug 18, 2022

गैर-धार्मिक कानून के तहत गोद लेना।

गैर-धार्मिक कानून के तहत गोद लेने के लिए, आपको एक भावी माता-पिता के रूप में माने जाने के लिए निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा:

स्वास्थ्य

• आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए यानी आपको कोई जानलेवा बीमारी न हो।

• आपको आर्थिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से मजबूत होना चाहिए, और बच्चे को गोद लेने के बाद उसको अच्छी परवरिश देने के लिए अत्यधिक प्रेरित होना चाहिए।

वैवाहिक स्थिति

• एकल दत्तक माता/पिता: इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप शादीशुदा हैं या आपके पहले से ही बच्चे हैं यानी एक अकेला/तलाकशुदा/विवाहित व्यक्ति भी बच्चे को गोद ले सकता है। अगर आप एक लड़की को गोद लेना चाहते हैं, तो आपको एक महिला होना चाहिए, क्योंकि एक अकेली महिला लड़का और लड़की दोनों बच्चों को गोद ले सकती है। जबकि, एक अकेला पिता के रूप में, आप एक लड़की को गोद नहीं ले सकते।

• विवाहित दत्तक माता-पिता: विवाहित जोड़े के मामलों में, पति-पत्नी दोनों को गोद लेने के लिए सहमति देनी होगी। एक विवाहित जोड़े के मामलों में, उनके पास कम से कम दो साल तक का मजबूत वैवाहिक संबंध होना चाहिए।

मौजूदा बच्चे

विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के मामलें, ऐसे बच्चे जिन्हें रखना मुश्किल हो (जिन्हें लंबे समय से कोई रेफरल नहीं मिल रहा है), और सौतेले माता-पिता एवं रिश्तेदार द्वारा गोद लेने के मामलों को छोड़कर, तीन या उससे अधिक बच्चों वाले दंपत्तियों को गोद लेने के लिए वैध नहीं माना जाएगा।

उम्र

बच्चे और गोद लेने वाले भावी माता-पिता में से किसी एक के बीच न्यूनतम आयु का अंतर कम से कम 25 वर्ष होना चाहिए।

• सौतेले माता-पिता और रिश्तेदारों द्वारा गोद लेने के मामलों को छोड़कर, विभिन्न आयु समूहों के बच्चों को गोद लेने के लिए आवेदन करना और उनकी पात्रता तय करने के लिए गोद लेने वाले भावी माता-पिता की संयुक्त आयु की गणना की जाएगी। यह समझने के लिए नीचे दी गई तालिका देखें कि क्या आप विभिन्न आयु समूहों के बच्चे को गोद लेने के योग्य हैं या नहीं।

 

बच्चे की उम्र गोद लेने वाले माता-पिता (युगल) की अधिकतम संयुक्त आयु गोद लेने वाले एकल माता/पिता की अधिकतम उम्र
4 साल तक 90 साल 45 साल
4 साल से लेकर 8 साल तक 100 साल 50 साल
8 साल से लेकर 18 साल तक 110 साल 55 साल

 

हिंदू कानून के तहत गोद लेना

हिंदू कानून के तहत गोद लेने पर, आपको भावी दत्तक माता-पिता के रूप में माने जाने के लिए निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा।

एक हिंदू पुरुष या हिंदू महिला के रूप में, आप एक हिंदू बच्चा या बच्ची को गोद ले सकते हैं। एक हिन्दू पुरुष जो एक बच्ची को गोद लेता है, वह उससे कम से कम 21 साल बड़ा होना चाहिए। इसी तरह, एक हिंदू महिला जो एक बच्चा को गोद लेती है, वह उससे कम से कम 21 साल बड़ी होनी चाहिए, HAMA के तहत गोद लेने के लिए, आपको निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करना चाहिए:

उम्र

• आपको एक प्रमुख व्यक्ति (18 वर्ष की आयु से ऊपर) और स्वस्थ दिमाग का होना चाहिए।

वैवाहिक स्थिति

• विवाहित दत्तक माता-पिता: अगर आप विवाहित हैं, तो आपको अपनी जीवित पत्नी/पत्नियों, या पति की सहमति होनी चाहिए, जब तक कि आपका जीवनसाथी कमजोर दिमाग का न हो, या फिर इस दुनिया में न हो, या अब वो हिंदू न हो। सिर्फ एक ही पत्नी होने पर, उसे एक दत्तक माँ के रूप में माना जाएगा, और कई पत्नियां होने के मामले में, सबसे बड़ी पत्नी को दत्तक माँ के रूप में माना जाएगा, जबकि अन्य सभी पत्नियां उस बच्चे की सौतेली माँ होंगी।

• एकल दत्तक माता/पिता: अगर आप अविवाहित या विधवा हैं, तो आप एक बच्चे को गोद ले सकते हैं, और बाद में शादी करने वाले किसी भी पुरुष/महिला को सौतेला पिता/सौतेली माँ माना जाएगा।

मौजूदा बच्चे

• अगर आप एक लड़की को गोद ले रहे हैं, तो आपके पास एक जीवित हिंदू बेटी या पोती (अपनी या सौतेली) नहीं होनी चाहिए, और अगर आप एक लड़के को गोद ले रहे हैं, तो आपके पास एक जीवित हिंदू बेटा, पोता या परपोता (अपना या सौतेला) नहीं होना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

गोद लेना किसे कहते हैं?

‘गोद लेना’ वह प्रक्रिया है जिसके माध्यम से गोद लेने वाले भावी माता-पिता कानूनी रूप से बच्चे की जिम्मेदारी लेते हैं, जिसमें बच्चे को पहले से ही दिए गए सभी अधिकार, विशेषाधिकार और जिम्मेदारियां शामिल हैं। गोद लेने की कानूनी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद, बच्चे को उनके असली माता-पिता से स्थायी रूप से अलग […]

भारतीय निवासियों द्वारा गोद लेने की प्रक्रिया (गैर-धार्मिक कानून)

एक निवासी भारतीय के रूप में, आप देश में गोद लेने का विकल्प चुन सकते हैं, यानी भारत के भीतर गोद लेना।

उत्पाद दायित्व क्या होता है?

उत्पाद में सेवा में कमी पाये जाने पर ग्राहक को हुए नुकसान की भरपाई के लिए उत्पाद निर्माता या विक्रेता की जिम्मेदारी को रेखांकित करती है।

कर में कटौती

कटौती एक व्यय है जिसे किसी व्यक्ति की सकल कुल आय से घटाया जाता है ताकि उस धनराशि को कम किया जा सके जिस पर कर लगाया जा रहा है। यह कटौती आय की राशि से कम, अधिक या उसके बराबर हो सकती है। यदि कटौती योग्य राशि आय की राशि से अधिक है तो […]

रैगिंग के लिए सज़ा

यदि कोई छात्र किसी अन्य छात्र की रैगिंग करते पकड़ा जाता है, तो उसे दंडित किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए इस सरकारी संसाधन को पढ़ें |
Crimes and Violence

ध्वनि प्रदूषण के प्रभाव

यह हमारी सुनने की क्षमता को नुकसान पहुंचा सकता है और अन्य मनोवैज्ञानिक, और संभवतः रोग संबंधी प्रक्रिया को जन्म दे सकता है।