टीवी के विषयवस्तु की सेंसरशिप

आखिरी अपडेट Aug 29, 2022

टीवी पर सेंसरशिप से संबंधित कानून अलग हैं। सरकार निम्नलिखित चीजें कर सकती है:

  • चैनल को सेंसर करना या यहां तक ​​कि पूरे केबल ऑपरेटर जैसे स्टार टीवी चैनल को सेंसर कर देना
  • ऐसी किसी भी विषयवस्तु को रोकना, जिससे समूहों के बीच नफरत या सार्वजनिक अशांति उत्पन्न हो।
  • अगर कोई विषयवस्तु उस कोड का उल्लंघन करती है जिसका सभी चैनल पालन करते हैं तो उसे रोकना।

उनकी शर्तों की एक लंबी सूची है। जैसे, कंटेंट सबको पसंद आना चाहिए या वह किसी तरह की शालीनता को ठेस न पहुंचाएं, किसी की भावनाएं आहत न करें, अंधविश्वास को बढ़ावा न दे या वह महिलाओं के लिए अपमानजनक न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

उत्पाद दायित्व क्या होता है?

उत्पाद में सेवा में कमी पाये जाने पर ग्राहक को हुए नुकसान की भरपाई के लिए उत्पाद निर्माता या विक्रेता की जिम्मेदारी को रेखांकित करती है।

कर में कटौती

कटौती एक व्यय है जिसे किसी व्यक्ति की सकल कुल आय से घटाया जाता है ताकि उस धनराशि को कम किया जा सके जिस पर कर लगाया जा रहा है। यह कटौती आय की राशि से कम, अधिक या उसके बराबर हो सकती है। यदि कटौती योग्य राशि आय की राशि से अधिक है तो […]

रैगिंग रोकने के लिए संस्थानों के कर्तव्य

सभी कॉलेजों / विश्वविद्यालयों को परिसर के भीतर और बाहर, दोनों जगहों पर रैगिंग खत्म करने के लिए सभी उपाय करने होंगे।
Crimes and Violence

उपभोक्ता शिकायत मंच

उपभोक्ता संरक्षण कानून संबद्ध प्राधिकरणों को निर्दिष्‍ट करता है कि कोई उपभोक्ता-अधिकारों का उल्‍लंघन होने पर उनसे संपर्क कर सकता है।

रैगिंग माने जाने वाले कृत्य

छात्रों के अनेक कृत्‍यों को कानून के तहत रैगिंग माना जाता है। रैगिंग के रूप में माने जाने वाले कुछ कृत्‍य हैं |
Crimes and Violence

रैगिंग के लिए सज़ा

यदि कोई छात्र किसी अन्य छात्र की रैगिंग करते पकड़ा जाता है, तो उसे दंडित किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए इस सरकारी संसाधन को पढ़ें |
Crimes and Violence