एलजीबीटी व्यक्तियों के लिए राशन कार्ड

आखिरी अपडेट Jul 12, 2022

राशन कार्ड तब सहायक होते हैं, जब आप सरकार द्वारा स्थापित दुकानों से कम रियायती मूल्य पर आवश्यक चीजें, जैसे चावल, अनाज आदि लेना चाहते हैं। राशन कार्ड, सरकार की सार्वजनिक वितरण प्रणाली (Public Distribution System) का एक हिस्सा है, और साथ ही यह एक महत्वपूर्ण पहचान प्रमाण दस्तावेज़ भी है। राशन कार्ड, लोगों को उनकी आर्थिक स्थिति के आधार पर जारी किए जाते हैं, इस चलते लोगों को दो तरह के राशन कार्ड जारी किए जाते हैं, पहला, एपीएल (Above the Poverty Line) जो गरीबी रेखा से ऊपर हैं, और दूसरा, बीपीएल (Below the Poverty Line) जो गरीबी रेखा से नीचे हैं।

चूंकि राशन कार्ड राज्य सरकारों द्वारा जारी किए जाते हैं, इसलिए उन्हें बनवाने की प्रक्रिया भी राज्य के नियमों पर निर्भर करती है। कानून के तहत, राशन कार्ड घर की सबसे बड़ी महिला के नाम से जारी किया जाता है, जिसकी उम्र 18 साल से ऊपर हो और उसी महिला को ‘घर की मुखिया’ माना जाता है। यदि परिवार में कोई

महिला नहीं है, तो सबसे बड़े पुरुष के नाम से राशन कार्ड मिलता है। अब कानून के अनुसार, तीसरे लिंग वाली (ट्रांसजेंडर) महिलाएं भी घरों की मुखिया हो सकती हैं।

राशन कार्ड के लिए आवेदन करने या राशन कार्ड अपडेट कराने के दौरान आपको कुछ महत्वपूर्ण अधिकार दिए गए हैं, जो निम्नलिखित हैं:

नया राशन कार्ड बनवाना

इसके लिए आपको एक आवेदन पत्र भरना होगा, जिसे आप किसी भी सर्कल कार्यालय से प्राप्त कर सकते हैं, या अपने राज्य सरकार की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। यहां से आप सभी राज्यों के संबंधित वेबसाइटों के पोर्टल तक पहुंच सकते हैं। नया राशन कार्ड कैसे बनवाएं, यह समझने के लिए, यहां पढ़ें।

  • नाम: यदि आपने अपने निर्धारित लिंग को प्रतिबिंबित करने के लिए अपना नाम बदल लिया है, तो आप अपना नया नाम आवेदन पत्र में भर सकते हैं। आपको अपने बदले हुए नाम के केंद्र / राज्य राजपत्र की एक प्रति और किसी अन्य पहचान प्रमाण पत्र की एक प्रति अपने साथ ले जानी चाहिए, जो आपके नए नाम की प्रमाणिकता को, सर्कल कार्यालय के अधिकारियों द्वारा मांगे जाने पर दे सकें।
  • लिंग विवरण: नया राशन कार्ड बनवाते समय, आपके पास लिंग के लिए 3 विकल्प हो सकते हैं “पुरुष”, “महिला” और “तीसरा लिंग”। चूंकि राशन कार्ड राज्यों द्वारा विनियमित होते हैं, तो हो सकता है कि कहीं तीसरा लिंग (ट्रांसजेंडर) चुनने का विकल्प न हो, तो इस तरह की स्थिति में, आप निम्नलिखित कार्य कर सकते हैं
    • आप राशन कार्ड सर्कल कार्यालय के अधिकारियों से संपर्क करें और पूछें कि क्या किया जा सकता है
    • पहचान का प्रमाण एक हलफनामे (affidavit) के रूप में साथ रखें, जिसमें आपका निर्धारित लिंग, आपका नया नाम इत्यादि लिखित हो।
    • वकीलों, गैर सरकारी संगठनों आदि की मदद लें।

राशन कार्ड का विवरण बदलवाना / अपडेट कराना

आप अपने राशन कार्ड की जनसांख्यिकीय जानकारी को अपडेट करा सकते हैं और ऐसा करने पर आपको एक नया कार्ड जारी किया जाएगा, जिसमें आपकी परिवर्तित जानकारी होगी। राशन कार्ड के विवरण को अपडेट कराने के तरीकों के बारे में विस्तार से समझने के लिए, यहां पढ़ें।

  • अपना नाम बदलना: यदि आप अपने नाम को बदल कर अपने निर्धारित लिंग की पहचान को प्रतिबिंबित करना चाहते हैं, तो आप अपना नया नाम आवेदन पत्र में भर सकते हैं। आपको अपने परिवर्तित नाम के केंद्रीय / राज्य राजपत्र की एक प्रति और किसी अन्य पहचान प्रमाण पत्र की एक प्रति अपने साथ ले जानी चाहिए जो आपके नए नाम की प्रमाणिकता दे सकें।
  • लिंग विवरण बदलना: यदि आप अपने निर्धारित लिंग की पहचान को अपडेट कराना चाहते हैं, तो आप दिए गए 3 विकल्पों में से किसी एक को चिह्नित कर सकते हैं जो हैं, “पुरुष”, “महिला” और “तीसरा लिंग (ट्रांसजेंडर)”। यह विकल्प भारत के सभी राशन कार्ड के दफ़्तरों में, और आवेदन पत्रों में उपलब्ध है।

सर्कल कार्यालय के अधिकारी आपसे अपने लिंग की पहचान दस्तावेज, या नाम बदलने के प्रमाण दस्तावेज़ की मांग कर सकते हैं, लेकिन वे आपका किसी भी प्रकार से उत्पीड़न नहीं कर सकते हैं, और ना ही लिंग सत्यापन की मांग मौके पर कर सकते हैं। यदि आपको किसी उत्पीड़न या भेदभाव का सामना करना पड़ा है, तो आपको राशन कार्ड के दफ़्तर के अधिकारियों के पास शिकायत दर्ज करानी चाहिए। अगर वे अधिकारी कार्रवाई नहीं करते हैं, तो आप वकीलों, गैर सरकारी संगठनों आदि की मदद ले सकते हैं ताकि यह प्रक्रिया सहज हो सके, और साथ ही आप पुलिस में शिकायत दर्ज कराकर कार्रवाई कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

कर में कटौती

कटौती एक व्यय है जिसे किसी व्यक्ति की सकल कुल आय से घटाया जाता है ताकि उस धनराशि को कम किया जा सके जिस पर कर लगाया जा रहा है। यह कटौती आय की राशि से कम, अधिक या उसके बराबर हो सकती है। यदि कटौती योग्य राशि आय की राशि से अधिक है तो […]

रैगिंग रोकने के लिए संस्थानों के कर्तव्य

सभी कॉलेजों / विश्वविद्यालयों को परिसर के भीतर और बाहर, दोनों जगहों पर रैगिंग खत्म करने के लिए सभी उपाय करने होंगे।
Crimes and Violence

पहचान प्रमाण प्राप्त करना (आईडी प्रूफ)

भारत में, अपने पहचान का प्रमाण प्राप्त करना सबसे महत्वपूर्ण काम है, क्योंकि पहचान प्रमाण पत्र में आपका व्यक्तिगत विवरण रहता है |

नये पैन नंबर पाने के लिए प्रक्रिया

आप पैन नंबर के लिए ऑनलाइन या व्यक्तिगत रूप से आवेदन कर सकते हैं।पैन नंबर के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रियाप्रक्रिया इस प्रकार है |

एलजीबीटी व्यक्तियों के लिए मतदाता पहचान पत्र

मतदाता पहचान पत्र, जिसे मतदाता फोटो पहचान पत्र (Electors Photo Identity Card-EPIC) भी कहा जाता है, एक फोटो पहचान पत्र है।

रैगिंग माने जाने वाले कृत्य

छात्रों के अनेक कृत्‍यों को कानून के तहत रैगिंग माना जाता है। रैगिंग के रूप में माने जाने वाले कुछ कृत्‍य हैं |
Crimes and Violence