अधिकतम ग्राहक दायित्व और बैंक नीति

आखिरी अपडेट Oct 24, 2022

एक मूल बचत बैंक जमा खाते का एक ग्राहक अधिकतम 5,000 रुपये के लिए उत्तरदायी हो सकता है।

अन्य सभी बचत बैंक खाते, प्रीपेड भुगतान साधन और उपहार कार्ड, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के चालू/नकद क्रेडिट/ओवरड्राफ्ट खाते, (धोखाधड़ी की घटना के 365 दिनों पहले के दौरान मे)25 लाख रुपये वार्षिक औसत बैलेंस तक की सीमा वाले व्यक्तियों के चालू खाते/नकद क्रेडिट/ओवरड्राफ्ट खाते, 5 लाख रुपये तक की सीमा वाले क्रेडिट कार्ड के लिए अधिकतम देय रु. 10,000 है।

अन्य सभी चालू/नकद क्रेडिट/ओवरड्राफ्ट खातों और 5 लाख रुपये से अधिक की सीमा वाले क्रेडिट कार्ड के लिए, वे 25,000 रुपये तक के लिए उत्तरदायी हो सकते हैं। यदि विलंब सात कार्य दिवसों से अधिक के लिए है, तो ग्राहक की देयता बैंक की बोर्ड नीति के अनुसार निर्धारित की जाएगी:

• बैंकों को खाता खोलते समय तैयार की गई ग्राहकों की देयता के संबंध में अपनी नीति का विवरण प्रदान करना चाहिए।

• बैंकों को व्यापक परिचालन के लिए अपनी अनुमोदित नीति को सार्वजनिक डोमेन में भी प्रदर्शित करना चाहिए।

• मौजूदा ग्राहकों को भी बैंक की नीति के बारे में व्यक्तिगत रूप से सूचित किया जाना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

ग्राहक दायित्व

ग्राहक को किसी तीसरे पक्ष के साथ भुगतान क्रेडेंशियल प्रकट नहीं करना चाहिए। यदि कोई ग्राहक ऐसा करता है तो लापरवाह के कारण देनदारी बढ़ जाएगी।

बैंक में शिकायत दर्ज करना

शिकायत संख्या को नोट करना न भूलें और उसी नंबर का उपयोग करके आगे की कार्यवाही करें। बैंक को आपके ईमेल की स्वीकृति देनी चाहिए।

ऑनलाइन बैंक धोखाधड़ी को रोकने के लिए बैंकों की जिम्मेदारी

बैंकों को अपने ग्राहकों को इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग लेनदेन के लिए अनिवार्य रूप से एसएमएस अलर्ट के लिए पंजीकरण करने के लिए कहना चाहिए।

अनधिकृत लेनदेन को सूचित करने के लिए ग्राहक की जिम्मेदारी

ग्राहकों को सूचित किया जाना चाहिए कि वे किसी भी अनधिकृत लेनदेन के बारे में अपने बैंक को जल्द से जल्द या यथाशीघ्र संभव अवसर पर सूचित करें।

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

इस सबके बावजूद, शिकायत का समाधान न होने पर, आप उपभोक्ता मंचों से संपर्क हेतु किसी वकील की मदद ले सकते हैं।

उपभोक्ता शिकायतों के प्रकार

उपभोक्ता संरक्षण कानून के तहत प्रत्येक व्यक्ति को निम्नलिखित प्रकार की उपभोक्ता शिकायतें दर्ज करने का अधिकार है |