चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार का आचरण

आखिरी अपडेट Sep 26, 2022

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवारों को एक निश्चित आचरण का पालन करना चाहिए। सभी राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों को ऐसी गतिविधियों से बचना चाहिए जो मतदाताओं और अन्य उम्मीदवारों को प्रभावित करती हैं जैसे कि1:

मतदाताओं के खिलाफ कार्रवाई

  • रिश्वत: किसी उम्मीदवार या पार्टी को वोट देने या न देने के लिए मतदाताओं को रिश्वत देना।
  • उदाहरण के लिए: किसी प्रत्याशी को वोट देने के लिए किसी मतदाता को टीवी देना।
  • धमकी: मतदाताओं को धमकी देना कि किसी खास पार्टी/उम्मीदवार को वोट न देने के परिणाम भुगतने होंगे। मतदाताओं को प्रेरित करना: किसी को भी यह विश्वास दिलाने की कोशिश करना कि यदि वे उम्मीदवार के निर्देशों का पालन नहीं करते हैं तो उन्हें किसी भी ईश्वरीय दंड के अधीन किया जाएगा।
  • मतदाताओं का प्रतिरूपण: अवैध वोट डालने के लिए मतदाताओं का प्रतिरूपण।

उम्मीदवारों के खिलाफ कार्रवाई

  • अन्य उम्मीदवारों को धमकी: किसी अन्य उम्मीदवार या मतदाता को चोट या किसी भी प्रकार के सामाजिक बहिष्कार, किसी जाति या समुदाय से बहिष्कार या निष्कासन की धमकी देना।

व्यक्तिगत हमले: अन्य उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों की आलोचना करते समय, उम्मीदवारों को अपनी टिप्पणियों को नीतियों, कार्यक्रमों, पिछले रिकॉर्ड और अन्य पार्टियों और उम्मीदवारों के कार्यों तक सीमित रखना चाहिए। उन्हें अन्य उम्मीदवारों, राजनीतिक दलों या उनके कार्यकर्ताओं के निजी जीवन की आलोचना या टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। असत्यापित रिपोर्टों पर आधारित आलोचना से भी हर कीमत पर बचना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

उपभोक्ता शिकायत मंच

उपभोक्ता संरक्षण कानून संबद्ध प्राधिकरणों को निर्दिष्‍ट करता है कि कोई उपभोक्ता-अधिकारों का उल्‍लंघन होने पर उनसे संपर्क कर सकता है।

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

इस सबके बावजूद, शिकायत का समाधान न होने पर, आप उपभोक्ता मंचों से संपर्क हेतु किसी वकील की मदद ले सकते हैं।

उपभोक्ता शिकायतों के प्रकार

उपभोक्ता संरक्षण कानून के तहत प्रत्येक व्यक्ति को निम्नलिखित प्रकार की उपभोक्ता शिकायतें दर्ज करने का अधिकार है |

ऑनलाइन बैंक धोखाधड़ी को रोकने के लिए बैंकों की जिम्मेदारी

बैंकों को अपने ग्राहकों को इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग लेनदेन के लिए अनिवार्य रूप से एसएमएस अलर्ट के लिए पंजीकरण करने के लिए कहना चाहिए।

उपभोक्ता अधिकारों के उल्‍लंघन के लिए दंड

उपभोक्ता अधिकारों के उल्‍लंघन के लिए किसी व्यक्ति या संस्था को दंडित करने की शक्ति केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण के पास होती है।

ग्राहक दायित्व

ग्राहक को किसी तीसरे पक्ष के साथ भुगतान क्रेडेंशियल प्रकट नहीं करना चाहिए। यदि कोई ग्राहक ऐसा करता है तो लापरवाह के कारण देनदारी बढ़ जाएगी।