नया मतदाता पहचान पत्र बनवाना

आखिरी अपडेट Jul 13, 2022

आप एक मतदाता पहचान पत्र, ऑनलाइन या व्यक्तिगत रूप से आवेदन करके बनवा सकते हैं।

एक मतदाता पहचान पत्र बनवाना

चरण 1: आप मतदान करने के योग्य हैं यदि आप का नाम चुनावी सूची में शामिल है, अन्यथा आपको मतदान करने के लिए पंजीकरण करवाना होगा। जाँच करें कि क्या आप यहाँ मतदान करने के लिए पंजीकृत हैं। अपना नाम सत्यापित करने के बारे में ज्यादा यहां पढ़ें।

चरण 2: जाँच करें कि आप किस श्रेणी के मतदाता हैं-सामान्य निर्वाचक, अप्रवासी भारतीय (एनआरआई -NRI) निर्वाचक, या सेवा (सर्विस-Service) निर्वाचक। यदि आप एक अप्रवासी भारतीय या सेवा निर्वाचक हैं, तो अधिक जानकारी के लिए यहां देखें।

चरण 3: आप नामांकन, ऑनलाइन या ऑफलाइन (व्यक्तिगत) कर सकते हैं:

ऑनलाइन

सामान्य मतदाता (भारत के निवासी निर्वाचक), पहली बार मतदान करने वाले मतदाता, और एक नए निर्वाचन क्षेत्र में स्थानांतरित होने वाले मतदाताओं को राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल (National Voters’ Service Portal – एनवीएसपी) पर फॉर्म 6 को भरना होगा। इस फॉर्म को ऑनलाइन अपलोड किया जाता है। ज्यादा जानने क लिये यहां पढ़ें।

व्यक्तिगत रूप से

आप फॉर्म 6 की दो प्रतियों को भरकर स्वयं नामांकन कर सकते हैं, यह फॉर्म निर्वाचक रजिस्ट्रेशन/ सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रेशन अधिकारियों और बूथ स्तर के अधिकारियों (बीएलओ) के कार्यालयों में निःशुल्क उपलब्ध है।

यदि आप व्यक्तिगत रूप से आवेदन कर रह हैं, तो इसे भर सकते हैंः

संबंधित निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी/ सहायक निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी के समक्ष; या

उन्हें संबोधित कर पोस्ट द्वारा फॉर्म को भेज सकते हैं; या

फॉर्म को अपने मतदान क्षेत्र के बूथ लेवल अधिकारी को सौंप सकते हैं।

चरण 4: आप ऑनलाइन नामांकन, या व्यक्तिगत रूप से नामांकन करना चाहते हैं, आपको अपने आवेदन पत्र के साथ निम्नलिखित दस्तावेज़ों को जमा करने होंगे:

हाल ही में खिचवाई पासपोर्ट आकार की रंगीन फोटो और

आयु के प्रमाण की फोटो-प्रतियां (18-21 वर्ष के बीच के आवेदकों के लिए) और निवास का प्रमाण पत्र। ज्यादा जानने के लिये यहां पढ़ें।

चरण 5: एक बूथ स्तर का अधिकारी (Booth Level Officer -BLO ) आपके फॉर्म में दिए गए पते पर, आवेदन में दिए गए विवरण को सत्यापित करने के लिए जाएगा। मतदाता पहचान पत्र तैयार होने के बाद, बूथ स्तर का अधिकारी या तो इसे आपके पते पर भेज देगा या आपसे इसे निर्वाचक पंजीकरण कार्यालय से एकत्र करने के लिये अनुरोध करेगा। आम तौर पर आवेदक को अपना मतदान पहचान पत्र प्राप्त करने में, आवेदन की तारीख से लगभग 2 महीने का समय लग जाता है। आवेदक राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल (National Voters’ Service Portal – एनवीएसपी) पर अपने आवेदन की स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं।

चरण 6: निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी (Electoral Registration Officer) एक नोटिस, मतदाताओं के नामों की सूचि के एक ड्रॉफ्ट के साथ जारी करता है, ताकि आप किसी भी नाम पर आपत्ति कर सकते हैं। यह सूची मुख्य चुनाव अधिकारी (Chief Election Officer, सीईओ), निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी के नोटिस बोर्ड और मतदान केंद्रों की वेबसाइट पर भी प्रदर्शित की जाती है। आपत्ति दर्ज कराने के बारे में अधिक जानने के लिये यहां पढ़ें।

यदि आपको किसी अतिरिक्त सहायता और समर्थन की आवश्यकता है, तो कृपया यहां देखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

पहचान प्रमाण प्राप्त करना (आईडी प्रूफ)

भारत में, अपने पहचान का प्रमाण प्राप्त करना सबसे महत्वपूर्ण काम है, क्योंकि पहचान प्रमाण पत्र में आपका व्यक्तिगत विवरण रहता है |

आयु का प्रमाण

आपके पहचान प्रमाण के विभिन्न सरकारी दस्तावेज़ों के लिए, आपको अपने आयु के प्रमाण का एक दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा।

LGBTQ+ व्यक्तियों के लिए लिंग पहचान का प्रमाण पत्र

लिंग की पहचान एक व्यक्ति की आत्म-पहचान को पुरूष, महिला, तीसरा लिंग (ट्रांसजेंडर) या अन्य निर्धारित किए गए वर्ग के रूप में संदर्भित करता है, जैसे इंटरसेक्स यानि मध्यलिंगी।

एलजीबीटी व्यक्तियों के लिए राशन कार्ड

राशन कार्ड तब सहायक होते हैं, जब आप सरकार द्वारा स्थापित दुकानों से कम रियायती मूल्य पर आवश्यक चीजें, जैसे चावल, अनाज आदि लेना चाहते हैं।

आधार कार्ड

आप आधार कार्ड को डाउनलोड कर सकते है, जिसे ई-आधार कहा जाता है, जो पासवर्ड-सुरक्षित एक वैध और सुरक्षित इलेक्ट्रॉनिक दस्तावेज़ है।

आवास प्रमाण पत्र

आपकी पहचान प्रमाण के लिये, जारी किये जाने वाले किसी भी सरकारी दस्तावेज़ के लिए, आपको अपना आवास प्रमाण पत्र देना होगा |