आधार कार्ड

आखिरी अपडेट Jul 13, 2022

आधार एक 12-अंकों की पहचान संख्या है, जो प्रत्येक व्यक्ति के लिए अलग है, जो भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (Unique Identification Authority of India, UIDAI) द्वारा, भारत के निवासियों को, उनके जनसांख्यिकीय और जीवसांख्यिकी (बायोमेट्रिक, biometric) सूचनाओं के आधार पर, एक सत्यापन प्रक्रिया को संतुष्ट करने के बाद, जारी किया गया है। आपको एक आधार नंबर एक कार्ड पर, आपके व्यक्तिगत विवरण, जैसे नाम, जन्मतिथि, पता आदि के साथ, दिया जाएगा, जो आमतौर पर अंग्रेजी भाषा में, और साथ ही राज्य की उस भाषा में, जहां आपका स्थायी पता है, रहता है।

आप आधार कार्ड को डाउनलोड कर सकते है, जिसे ई-आधार कहा जाता है, जो पासवर्ड-सुरक्षित एक वैध और सुरक्षित इलेक्ट्रॉनिक दस्तावेज़ है, जो भौतिक आधार कार्ड जितना ही महत्व का है।

आपके पहचान की सूचनाएं और व्यक्तिगत विवरण गोपनीय हैं, और उन्हें प्राधिकरण द्वारा सुरक्षित रखा जाता है, उन्हें इस सूचनाओं को साझा करने की मनाही है, जब तक कि इसे कानूनी रूप से अधिकृत उद्देश्यों के लिए नहीं मांगा गया हो।

एक आधार संख्या यादृच्छिक (random) तौर पर उत्पन्न की जाती है। यह एक विशिष्ट संख्या है, जो दोबारा (डुप्लिकेट) किसी और की पहचान संख्या नहीं बन सकती है। वास्तव में आधार संख्या, पहचान का एक सुवाह्य (पोर्टेबल) प्रमाण, पूरे भारत में लागू है। फिर भी, सिर्फ आधार होने का यह मतलब नहीं है कि आप भारत के नागरिक हैं।

आधार को प्राथमिक पहचान पत्र के रूप में, बिना किसी अन्य दस्तावेज के, कई सरकारी कल्याणकारी योजनाओं, कार्यक्रमों, विभिन्न सहायकी (सब्सिडी), सुविधा और सेवाओं का लाभ उठाने के लिए, इस्तेमाल किया जा सकता है। आधार कार्ड का उपयोग, अन्य विभिन्न सेवाओं का लाभ उठाने के लिए, पहचान के प्रमाण, पते के प्रमाण, साथ ही उम्र के प्रमाण के रूप में भी किया जा सकता है।

कोई भी व्यक्ति, चाहे वह किसी भी उम्र और लिंग का हो, और जो भारत का निवासी हो, वह स्वेच्छा से आधार संख्या प्राप्त करने के लिए अपना नामांकन कर सकता है। आपको एक ’निवासी’ (resident) माना जाता है, अगर आपने नामांकन (एनरॉलमेंट) आवेदन की तारीख से ठीक बारह महीनों पहले से, भारत में कम से कम 182 दिनों की अवधि के लिए, निवास किया है।

एक आधार नंबर, स्थायी रूप से एक विशिष्ट व्यक्ति के साथ जुड़ा हुआ है, और इसे किसी भी नवीकरण की आवश्यकता नहीं है। आप एक नया आधार कार्ड प्राप्त कर सकते हैं, या अपना आधार अपडेट कर सकते हैं। खोए हुए आधार कार्ड को पुनः प्राप्त करना भी संभव है। यदि आपको किसी अतिरिक्त सहायता और मदद की आवश्यकता है, तो कृपया यहाँ देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

पहचान प्रमाण प्राप्त करना (आईडी प्रूफ)

भारत में, अपने पहचान का प्रमाण प्राप्त करना सबसे महत्वपूर्ण काम है, क्योंकि पहचान प्रमाण पत्र में आपका व्यक्तिगत विवरण रहता है |

आयु का प्रमाण

आपके पहचान प्रमाण के विभिन्न सरकारी दस्तावेज़ों के लिए, आपको अपने आयु के प्रमाण का एक दस्तावेज प्रस्तुत करना होगा।

LGBTQ+ व्यक्तियों के लिए लिंग पहचान का प्रमाण पत्र

लिंग की पहचान एक व्यक्ति की आत्म-पहचान को पुरूष, महिला, तीसरा लिंग (ट्रांसजेंडर) या अन्य निर्धारित किए गए वर्ग के रूप में संदर्भित करता है, जैसे इंटरसेक्स यानि मध्यलिंगी।

एलजीबीटी व्यक्तियों के लिए राशन कार्ड

राशन कार्ड तब सहायक होते हैं, जब आप सरकार द्वारा स्थापित दुकानों से कम रियायती मूल्य पर आवश्यक चीजें, जैसे चावल, अनाज आदि लेना चाहते हैं।

आवास प्रमाण पत्र

आपकी पहचान प्रमाण के लिये, जारी किये जाने वाले किसी भी सरकारी दस्तावेज़ के लिए, आपको अपना आवास प्रमाण पत्र देना होगा |

एलजीबीटी व्यक्तियों के लिए ड्राइविंग लाइसेंस

ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) एक आधिकारिक दस्तावेज है, जो सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के तहत प्रत्येक राज्य के क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) या क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण (आरटीए) द्वारा कार्ड के रूप में जारी किया जाता है।