प्रसव पूर्व निदान प्रक्रियाओं की अनुमति कब दी जाती है?

आखिरी अपडेट Sep 6, 2022

यह कानून कुछ सीमित परिस्थितियों में प्रसव से पूर्व निदान की प्रक्रियाओं के उपयोग की अनुमति देता है।

भ्रूण में क्रमोसोमल संबंधी असामान्यताओं, जेनेटिक मेटाबोलिक रोगों, हीमोग्लोबिनोपैथी, लिंग से जुड़े जेनेटिक रोगों, जन्मजात विसंगतियों और अन्य असामान्यताओं या बीमारियों का पता लगाने के लिए प्रसव से पूर्व निदान की प्रक्रियाओं का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

उपर्युक्त असामान्यताओं का पता लगाने के लिए गर्भवती महिला की लिखित सहमति लेनी चाहिए, ऐसी प्रक्रियाओं का संचालन करने के लिए आवश्यक है कि :

• गर्भवती महिला 35 वर्ष से अधिक आयु की है;

• गर्भवती महिला को दो या अधिक स्वतः गर्भपात या भ्रूण हानि हुई है;

• गर्भवती महिला द्वारा औषधि, विकिरण, संक्रमण या रसायन जैसे संभावित लाभकारी एजेंट लिए गए हैं।

• गर्भवती महिला या उसके पति को मानसिक कमज़ोरी या शारीरिक विकृतियों का कोई पारिवारिक इतिहास रहा हो।

जैसा कि कानून में कहा गया है, यदि इन स्थितियों को पूरा करने के बाद प्रसव पूर्व निदान प्रक्रिया संचालित की जाती है तो गर्भवती महिला पर अल्ट्रासोनोग्राफी करने वाले व्यक्ति को इसका पूरा रिकॉर्ड रखना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

क्या आपके पास कोई कानूनी सवाल है जो आप हमारे वकीलों और वालंटियर छात्रों से पूछना चाहते हैं?

Related Resources

कर में कटौती

कटौती एक व्यय है जिसे किसी व्यक्ति की सकल कुल आय से घटाया जाता है ताकि उस धनराशि को कम किया जा सके जिस पर कर लगाया जा रहा है। यह कटौती आय की राशि से कम, अधिक या उसके बराबर हो सकती है। यदि कटौती योग्य राशि आय की राशि से अधिक है तो […]

रैगिंग के लिए सज़ा

यदि कोई छात्र किसी अन्य छात्र की रैगिंग करते पकड़ा जाता है, तो उसे दंडित किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए इस सरकारी संसाधन को पढ़ें |
Crimes and Violence

ध्वनि प्रदूषण के प्रभाव

यह हमारी सुनने की क्षमता को नुकसान पहुंचा सकता है और अन्य मनोवैज्ञानिक, और संभवतः रोग संबंधी प्रक्रिया को जन्म दे सकता है।

उपभोक्ता शिकायतों के प्रकार

उपभोक्ता संरक्षण कानून के तहत प्रत्येक व्यक्ति को निम्नलिखित प्रकार की उपभोक्ता शिकायतें दर्ज करने का अधिकार है |

उपभोक्ता अधिकारों के उल्‍लंघन के लिए दंड

उपभोक्ता अधिकारों के उल्‍लंघन के लिए किसी व्यक्ति या संस्था को दंडित करने की शक्ति केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण के पास होती है।

ध्वनि-प्रदूषण की शिकायत दर्ज कराना

अगर कोई शोर हो रहा है जिससे आपको झुंझलाहट होती है, या बेचैनी या कोई चोट लगती है, तो आप नीचे दिए गए अधिकारियों के पास शिकायत दर्ज करा सकते हैं।